Image default
Design

गुजरात के एक व्यवसायी ने राम मंदिर निर्माण के लिए दिए 11 करोड़ रुपये दान

गुजरात के एक व्यवसायी गोविंद ढोलकिया ने रविवार को अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए 11 करोड़ रुपये दान किए हैं। वे सूरत की एसआरके डायमंड कंपनी के मालिक हैं।  समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए, गुजरात के व्यवसायी ने कहा, “भगवान राम और भगवान कृष्ण हमारे ईष्ट देवता हैं। यही कारण है कि हमने अपनी कंपनी का नाम श्री राम कृष्ण एक्सपोर्ट रखा है जो बाद में एसआरके बन गया। इसलिए हमारे परिवार ने सोचा कि जब 500 साल से अधिक समय के बाद हमारे ईष्ट देवता का मंदिर बनाया जा रहा है, तो हमें निश्चित रूप से योगदान देना चाहिए।”

गुजरात के व्यापारी: ‘हमें निश्चित रूप से योगदान देना चाहिए’

राम मंदिर के निर्माण के लिए 11 करोड़ रुपये दान करने के बारे में आगे बात करते हुए, SRK डायमंड कंपनी के मालिक ने कहा, “भगवान को इसकी आवश्यकता नहीं है, वह खुद अमीर हैं। लेकिन भगवान ने हमें जो भी शक्ति प्रदान की है, हमें उसमें से कुछ करना चाहिए।” यह कहते हुए कि उनके पूरे परिवार ने राशि के बारे में बहुत सोचा और अंत में 11 करोड़ रुपये देने का फैसला किया, ढोलकिया ने कहा कि सर्वशक्तिमान ने उन्हें बहुत दिया है, इसलिए उन्होंने राशि को भगवान के सम्मान में समर्पित करने का फैसला किया है।

राम मंदिर को मिला 100 करोड़ का दान 

श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने रविवार को कहा कि राम मंदिर ट्रस्ट को लगभग 100 करोड़ रुपये का दान मिला है। समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए, राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव ने कहा, “डेटा अब तक मुख्यालय तक नहीं पहुंचा है, लेकिन हमें अपने कार्याकारों से एक रिपोर्ट मिली है कि उन्हें इस नेक काम के लिए लगभग 100 करोड़ रुपये का दान मिला है।”

इससे पहले शुक्रवार को, राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण में योगदान के रूप में 5,00,100 रुपये का दान दिया था।

बता दें कि राम मंदिर के निर्माण के लिए ‘निधि समर्पण अभियान’ शुरू हो चुका है जिसमें सहयोग के लिए 10 रुपए, 100 रुपए या 1000 रुपए के कूपन उपलब्ध हैं। इन कूपन के माध्यम से ही श्रद्धालुओं से सहयोग राशि ली जाएगी। VHP ने स्वयंसेवक नियुक्त किए हैं, जो गांव तक डोर टू डोर कैंपेन करेंगे। 27 फरवरी को ‘निधि समर्पण अभियान’ का समापन होगा। अभियान का लक्ष्य 65 करोड़ लोगों तक पहुंचना है।

अनुमान है कि अयोध्या में 70 एकड़ में फैले भव्य राम मंदिर के लिए 1100 करोड़ का खर्च आ सकता है। इस मंदिर की तैयारियां कई दशकों से हो रही हैं। पत्थरों को तराशने का काम अयोध्या में रामसेवकपुरम की कार्यशाला में जारी है। वही, श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की आधिकारिक वेबसाइट पर इस मंदिर से जुड़ी जानकारी मौजूद है।

Related posts

Noida का विस्तार, अब ये 80 और गांव अथॉरिटी में होंगे शामिल

abhisheknews

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे की 3300 मीटर लंबी एयर स्ट्रिप का काम पूरा, जल्द जहाज उतारेगी भारतीय वायुसेना

abhisheknews

Leave a Comment

%d bloggers like this: