Image default
National religious

बरसाना की लट्ठमार होली है विश्व प्रसिद्ध, जानिए कैसे और क्यों खेली जाती है ऐसी होली

अभी न्यूज/ रिपोर्ट/ नवीन चतुर्वेदी  होली उत्सव 29 मार्च को है। हिन्दू पंचांग के अनुसार, फाल्गुन पूर्णिमा के दिन होलिका दहन करने के बाद अगले दिन होली उत्सव मनाया जाता है। रंगों का यह त्योहार अपने आप में निराला है। इस पर्व में प्रेम, यौवन, सांस्कृतिक संगीत और नृत्य, रंग, समरसता, मिठास इन सभी चीजों का समावेश है। होली को बरसाने की होली और भी खास बनाती है। ये होली रंग-गुलाल के साथ-साथ लाठी और डंडों से खेली जाती है।

बरसाने की लट्ठमार होली

बरसाने की लट्ठमार होली देश और दुनिया में भी काफी प्रसिद्ध है। इस साल यह होली 23 मार्च को बरसाने में खेली जाएगी। फाल्गुन मास की शुक्ल पक्ष की नवमी को बरसाने में लट्ठमार होली मनाई जाती है। नवमी के दिन यहां का नजारा देखने लायक होता है। यहां लोग रंगों, फूलों के अलावा डंडों से होली खेलते

धार्मिक मान्यता

धार्मिक मान्यता है कि बरसाना में राधा जी का जन्म हुआ था। फाल्गुन मास की शुक्ल पक्ष की नवमी को नंदगांव के लोग होली खेलने के लिए बरसाना गांव जाते हैं। जहां पर लड़कियों और महिलाओं के संग लट्ठमार होली खेली जाती है। इसके बाद फाल्गुन शुक्ल की दशमी तिथि पर रंगों की होली खेली होती है।
भगवान कृष्ण के समय से चली आ रही है परंपरा

लट्ठमार होली खेलने की परंपरा भगवान कृष्ण के समय से चली आ रही है। ऐसी मान्यता है कि भगवान कृष्ण अपने दोस्तों संग नंदगांव से बरसाना जाते हैं। बरसाना पहुंचकर वे राधा और उनकी सखियों संग होली खेलते हैं। इस दौरान कृष्णजी राधा संग ठिठोली करते हैं जिसके बाद वहां की सारी गोपियां उन पर डंडे बरसाती

लाठी डंडों से खेली जाती है होली

गोपियों के डंडे की मार से बचने के लिए नंदगांव के ग्वाले लाठी और ढ़ालों का सहारा लेते हैं। यही परंपरा धीरे-धीरे चली आ रही है जिसका आजतक पालन किया जा रहा है। पुरुषों को हुरियारे और महिलाओं को हुरियारन कहा जाता है। इसके बाद सभी मिलकर रंगों से होली का उत्सव मनाते है।

Related posts

रामपुर: ‘जीत कर आना, हम घर और खेत दोनों संभाल लेंगे’, धरने में गए किसानों की महिलाओं ने संभाला मोर्चा

abhisheknews

उत्तर प्रदेश के नहीं है मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, वह बाहर से आए हैं: अखिलेश यादव

abhisheknews

रेलवे ने यूपी को दी गुड न्यूज, आनंद विहार से चलेगी स्पेशल ट्रेन, जानिए रूट, टाइम और स्टॉपेज

abhisheknews

Leave a Comment

%d bloggers like this: